सेमेस्टर प्रणाली क्या है? (Semester System Notes in hindi)

सेमेस्टर प्रणाली नोट्स (Semester System Notes in hindi): इस आर्टिकल के माध्यम से हम सेमेस्टर प्रणाली पर चर्चा करेंगे। और जानेंगे कि आखिर सेमेस्टर प्रणाली प्रणाली के लाभ क्या हैं? सेमेस्टर प्रणाली टॉपिक पर इस सामग्री का योगदान शालू यादव ने किया है। वह इस वेबसाइट के लिए एक नियमित योगदानकर्ता हैं और उन्होंने हमें … Read more

खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली से आप क्या समझते हैं?

खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली (Open Book Examination System): इस आर्टिकल के माध्यम से हम खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली पर चर्चा करेंगे। और जानेंगे कि आखिर खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली के लाभ तथा दोष क्या हैं? खुली पुस्तक परीक्षा प्रणाली टॉपिक पर इस सामग्री का योगदान शालू यादव ने किया है। वह इस वेबसाइट के लिए … Read more

ब्लूम वर्गिकी (ब्लूम का वर्गीकरण) Bloom’s Taxonomy Notes Hindi

ब्लूम वर्गिकी (Bloom Taxonomy): इस आर्टिकल के माध्यम से हम ब्लूम के द्वारा दी गयी ब्लूम वर्गिकी (ब्लूम टेक्सोनोमी) पर चर्चा करेंगे। ब्लूम वर्गिकी या ब्लोक का वर्गीकरण टॉपिक पर इस सामग्री का योगदान शालू यादव ने किया है। वह इस वेबसाइट के लिए एक नियमित योगदानकर्ता हैं और उन्होंने हमें अपनी सर्वश्रेष्ठ सामग्री के … Read more

मांग आधारित परीक्षा क्या है?

मांग आधारित परीक्षा (Examination On Demand): इस आर्टिकल में हम मांग आधारित परीक्षा (Exams on Demand) पर चर्चा करेंगे तथा इस तरह की परीक्षा के लाभों को भी जानेंगे। मांग आधारित परीक्षा की भूमिका (Introduction) Examination On Demand या मांग आधारित परीक्षा उस मनोवैज्ञानिक सिद्धांत पर आधारित है जिसके अनुसार जब एक विद्यार्थी को आवश्यकता … Read more

पाठ्यक्रम परिवर्तन को प्रभावित करने वाले कारक Curriculum Change Notes Hindi

पाठ्यक्रम परिवर्तन Notes Hindi: इस आर्टिकल के माध्यम से हम पाठ्यक्रम परिवर्तन को प्रभावित करने वाले कारकों को जानेंगे। यह टॉपिक B.Ed द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों के सब्जेक्ट नॉलेज एंड करिकुलम (Knowledge and Curriculum) से लिया गया है। पाठ्यक्रम का अर्थ (Meaning of Curriculum) पाठ्यक्रम के अंतर्गत वे सभी लक्ष्य, अंतर्वस्तु, प्रक्रिया संसाधन, तथा सभी … Read more

शिक्षा का व्यवसायीकरण क्या है? Vocationalisation Of Education

शिक्षा का व्यवसायीकरण: इस आर्टिकल में हम शिक्षा के व्यवसायीकरण (Vocationalisation Of Education) विषय पर चर्चा करेंगे और जानेंगे कि आखिर किस तरह माध्यमिक शिक्षा का व्यवसायीकरण होता है। परिचय (शिक्षा का व्यवसायीकरण) 1000 साल पहले कृषि अर्थव्यवस्था विकसित हुई और खानाबदोश और शिकारी किसानों में परिवर्तित हो गए थे आज से 300 साल पहले … Read more

सामजिक विविधता पर चर्चा करें।

सामजिक विविधता: इस आर्टिकल में हम सामजिक विविधता पर चर्चा करेंगे, और जानेंगे कि आखिर किस तरह जातियों, भाषाओं, धर्मों और क्षेत्रों के आधार पर सामाजिक विविधता पायी जाती है। सामजिक विविधता का अर्थ भारतीय समाज विश्व के सबसे पुराने समाजों में से एक है। भारत ने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं। लोगों के कई समूह … Read more

भाषा के सिद्धांत कौन-से हैं?

भाषा के सिद्धांत: भाषा के सिद्धांत के इस आर्टिकल में हम सीखेंगे कि आखिर किस प्रकार भाषा बच्चों या बड़ों द्वारा अर्जित की जाती है या सीखी जाती है। भाषा के सिद्धांत को हम पियाजे के अनुसार भी जानेंगे और अंत में भाषा के सिद्धांतों पर चर्चा करेंगे। भूमिका बच्चे भाषा के जटिल सिस्टम को … Read more

प्रकृतिवाद का सिद्धांत क्या है?

प्रकृतिवाद क्या है: इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि आखिर प्रकृतिवाद से अभिप्राय क्या है। प्रकृतिवाद (Naturalism) एक तरह की विचारधारा है और इस विचारधारा को मानने वाले लोगों को प्रकृतिवादी कहा जाता है। प्रकृतिवाद क्या है यह (प्रकृतिवाद) शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है -प्रकृति + वाद। जहाँ प्रकृति से अभिप्राय है कुदरत … Read more

मूल्यांकन, आकलन तथा मापन में अंतर (Difference between Evaluation, Assessment, and Measurement)

इस आर्टिकल में मूल्यांकन, आकलन तथा मापन (Evaluation, Assessment, and Measurement) के बारे में विस्तार से बताया गया है। हम मूल्यांकन, आकलन तथा मापन (Evaluation, Assessment, and Measurement) के माध्यम से जानेंगे कि ये तीनो पद किस तरह एक दूसरे से अलग हैं और किस तरह इनका इस्तेमाल किया जाता है। मूल्यांकन का अर्थ मूल्यांकन … Read more

error: Content is protected !!