प्रकृतिवाद का सिद्धांत क्या है?

प्रकृतिवाद क्या है: इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि आखिर प्रकृतिवाद से अभिप्राय क्या है। प्रकृतिवाद (Naturalism) एक तरह की विचारधारा है और इस विचारधारा को मानने वाले लोगों को प्रकृतिवादी कहा जाता है। प्रकृतिवाद क्या है यह (प्रकृतिवाद) शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है -प्रकृति + वाद। जहाँ प्रकृति से अभिप्राय है कुदरत … Read more

मूल्यांकन, आकलन तथा मापन में अंतर (Difference between Evaluation, Assessment, and Measurement)

इस आर्टिकल में मूल्यांकन, आकलन तथा मापन (Evaluation, Assessment, and Measurement) के बारे में विस्तार से बताया गया है। हम मूल्यांकन, आकलन तथा मापन (Evaluation, Assessment, and Measurement) के माध्यम से जानेंगे कि ये तीनो पद किस तरह एक दूसरे से अलग हैं और किस तरह इनका इस्तेमाल किया जाता है। मूल्यांकन का अर्थ मूल्यांकन … Read more

निष्पक्षता तथा समानता क्या हैं? What are Equity and Equality?

निष्पक्षता तथा समानता (Equity and Equality) के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि आखिर किस प्रकार ये दोनों पद एक दूसरे से अलग हैं। हम यह भी जानेंगे कि निष्पक्षता तथा समानता (Equity and Equality) की विशेषताएं क्या हैं? यह टॉपिक बी एड द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। ………………… निष्पक्षता तथा … Read more

परीक्षा क्या है? What is examination?

परीक्षा क्या है; इस आर्टिकल के माध्यम से हम जानेंगे कि परीक्षा क्या है (What is examination) और यह भी जानेंगे कि परीक्षा का महत्व (Importance of examination) तथा उद्देश्य (Objectives of examination) क्या है। परीक्षा क्या है (What is examination) टॉपिक बी एड द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए बेहद उपयोगी है। परीक्षा का … Read more

ज्ञान प्राप्ति के स्रोत (Sources Of Knowledge)

इस आर्टिकल में हम ज्ञान प्राप्ति के स्रोत (sources of knowledge) या ज्ञान प्राप्ति के विभिन्न स्रोतों के बारे में चर्चा करेंगे। ज्ञान प्राप्ति के स्रोत (sources of knowledge) के इस टॉपिक के माध्यम से आप सीख पाएंगे कि आखिर किन साधनों के द्वारा ज्ञान को प्राप्त किया जा सकता है। ज्ञान के कौन-कौन से … Read more

आकलन क्या है? What is Assessment?

इस आर्टिकल में हम, आकलन क्या है (what is assessment ) पर चर्चा करेंगे। यह टॉपिक बी एड (B.Ed) के द्वितीय वर्ष के विद्यार्थिओं के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आकलन (assessment) के सम्प्रत्य का वर्णन करेंगे। आकलन (assessment) की प्रकिर्या तथा योजना क्या है यह भी जानेंगे। आकलन के … Read more

सूचना तथा ज्ञान में अंतर। (Difference Between Information and Knowledge)

सूचना तथा ज्ञान (Information and Knowledge) दोनों को कई बार हम एक ही समझ लेते हैं। लेकिन सूचना तथा ज्ञान (Information and Knowledge) दोनों अलग-अलग होते हैं। इस आर्टिकल में हम सूचना तथा ज्ञान (Information and Knowledge) के बारे में विस्तार से पढ़ेंगे। और ये भी जानेंगे की आखिर सूचना (Information) किस तरह ज्ञान (Knowledge) … Read more

एरिक्सन का मनो सामाजिक विकास का सिद्धांत

एरिक्सन का मनो सामाजिक विकास का सिद्धांत: इस आर्टिकल में हम एरिक्सन का मनो सामाजिक विकास का सिद्धांत (Erickson’s Psycho-Social Theory Of Development) के सिद्धांत का वर्णन करेंगे। और यह भी जानेंगे कि किस प्रकार यह एरिक्सन का मनो सामाजिक विकास का सिद्धांत (Erickson’s Psycho-Social Theory Of Development) सिद्धांत हमारे जीवन में विकास को प्रभावित … Read more

कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत

कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत (Kohlberg’s Theory Of Moral Development) विषय CTET, और B.Ed दोनों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। इस article में हम उन सभी सवालों पर चर्चा करेंगे जो इस कोहलबर्ग का नैतिक विकास का सिद्धांत (Kohlberg’s Theory Of Moral Development) topic से पूछे जा सकते हैं। MDU, CRSU, और बाकी संस्थानों … Read more

विकास में अनुवांशिकता और वातावरण की भूमिका।

इस आर्टिकल में विकास में अनुवांशिकता और वातावरण की सापेक्ष भूमिका (relative role of heredity and environment in development) के वारे में बताया गया है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम समझेंगे कि किस तरह से व्यक्ति के विकास (Development) में अनुवांशिकता (heredity) और वातावरण (Environment) अपनी भूमिका निभाते हैं। अनुवांशिकता और वातावरण विकास में … Read more

error: Content is protected !!